Thursday, May 26, 2022

डब्ल्यूएचओ साइंटिस्ट ने कोरोना की तीसरी लहर ने निपटने के लिए साझा किए तरीके


Coronavirus की तीसरी लहर ने पूरे देश को चिंता में डाल दिया है. दूसरी लहर के दौरान दिखी भयानक तबाही का मंजर अभी लोगों के दिमाग से बाहर निकल भी नहीं पाया था कि इतने में ओमिक्रोन ने दस्तक दे दी, जिससे भारत के लोगों के सामने एक बड़ी चुनौती सामने आकर खड़ी हो गई है. WHO के मुख्य साइंटिस्ट ने भारत को ओमिक्रोन से निपटने के बाते में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी दी है.

देश के बड़े-बड़े शहरों में ओमिक्रोन ने अपने पांव पसार लिए हैं. संक्रमण काफी तेजी से फैल रहा है. इसे लेकर डब्लूएचओ के चीफ साइंटिस्ट सौम्या स्वामीनाथन ने कहा, कोरोना की तीसरी लहर अस्पतालों से बाहर के मरीज विभाग और आईसीयू से घर-आधारित देखभाल पर बोझ को स्थानांतरित करेगी, इसके अलावा डॉ स्वामीनाथन ने कहा कि भारत के सामने मेडिकल केयर की अचानक से ज्यादा जरूरत बड़ी चुनौती साबित होगी.

आइसोलेशन है जरूरी
इसके अलावा स्वामीनाथन ने कहा है कि आपके इससे निपटने के लिए तैयारी बढाने की जरूरत होगी. सरकार के निर्देशों का पालन करते हुए आपको चिकित्सक के परामर्श में रहना होगा. यह सुनिश्चित करना होगा कि हम संक्रमित होने पर घर में ही आइसोलेट होकर इलाज करें. 

ये भी पढ़ें: Corona in India: तीसरी लहर में कम लोगों को पड़ी अस्पताल जाने की जरूरत, क्या बड़ी वजह है वैक्सीनेशन?

समझने की जरूरत
स्वामीनाथन ने लोगों को चेताते हुए कहा कि, लोगों के दिमाग में भ्रम पैदा हो गया है ओमिक्रोन सर्दी-खांसी जैसी आम बीमारियों की तरह है तो लोगों को समझने की जरूरत है. उन्होंने खतरों पर जोर देते हुए कहा, जो आम धारणा से पैदा हुआ है कि ओमिक्रोन संक्रमण हल्के होते हैं. यह चार गुना संक्रमित करने की क्षमता रखता है.

ये भी पढ़ें: Omicron Symptoms: ओमिक्रोन और कोरोना का नया लक्षण आया सामने, इस बॉडी पार्ट पर कर रहा है अटैक

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,331FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles